मीराबाई मन्दिर रास्ता जन्म स्थान विवाह भक्ति स्मारक

मीरा-बाई-मंदिर-मेड़ता-सिटी

मीराबाई (1498-1546) सोलहवीं शताब्दी की एक कृष्ण भक्त और कवयित्री थीं। उनकी कविता कृष्ण भक्ति के रंग में रंग कर और गहरी हो जाती है। मीरा बाई ने कृष्ण भक्ति के स्फुट पदों की रचना की है। मीरा कृष्ण की भक्त हैं। उनके गुरु रविदास जी थे तथा रविदास जी के गुरु रामानंद जी थे। … Read more

तनोट माता मन्दिर इतिहास कुलदेवी कहानी चमत्कार रास्ता

तनोट-माता-फोटो

तनोट माता भारत के जैसलमेर जिले के पश्चिमी राज्य राजस्थान में एक मंदिर है। ममदिया चारण (गढ़वी) की बेटी देवी आवड़ को तनोट माता के रूप में पूजा जाता है। सबसे पुराने चारण साहित्य के अनुसार तनोट माता दिव्य देवी हिंगलाज माता का अवतार है। यह मन्दिर भारत-पाकिस्तान सीमा के करीब है, और 1971 के … Read more

मांगलियावास कल्पवृक्ष मेला स्थान रास्ता मनोकामना

मांगलियावास-कल्पवृक्ष

मांगलियावास कल्पवृक्ष हजारों श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र है। कल्पवृक्ष यानि कल्पानाओं को साकार करने वाला वृक्ष। कल्पवृक्ष को स्वर्ग की देन कहा गया है। यह जोड़ा पिछले आठ सौ वर्षों से श्रद्धालुओं की मनोकामनाओं को पूरी कर रहा है। इसी वजह से यहां प्रतिवर्ष श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है। यहां कल्पवृक्ष आठसौ साल … Read more

amana portable air conditioner instructions

amana-portable-air-conditioner-ap077r

Amana portable air conditioner provide comfort wherever you are. Designed for cooling and dehumidifying a room up to 100 to 1500 square feet, this Amana unit features on-board electronic controls with 3 speeds and a 24-hour timer, plus a handy remote control with LCD display allows you to easily control the unit from the comfort … Read more

जमवाय माता मंदिर जयपुर इतिहास कथा कुलदेवी रास्ता मेला रामगढ़ बांध कहानी

जमवाय-माता-मन्दिर-जयपुर

जयपुर के नज़दीक और रामगढ झील से एक किलोमीटर आगे पहाड़ी की तलहटी में जमवाय माता का मन्दिर जयपुर बना हुआ है। आज भी देश के विभिन्न हिस्सों में बसे कछवाह वंश के लोगों की आस्था का केन्द्र बना हुआ है। जमवाय माता मंदिर जयपुर कुलदेवी होने से नवरात्र एवं अन्य अवसरों पर देशभर में … Read more

श्री मसाणिया भैरव धाम राजगढ़ अजमेर रास्ता नशा मुक्ती मेला चमत्कार स्थान

राजगढ़-धाम-मसानिया-भैरू

मसाणिया भैरव धाम राजगढ़ नशा छुड़वाने के लिए प्रसिद्ध है। यह धाम राजगढ़ अजमेर-ब्यावर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सरधना गावं से आठ किलोमीटर दुरी पर है। धार्मिक स्थलों में यह ऐसा अनूठा मंदिर है। जहां पर किसी भी रूप में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से दान चंदा भेंट स्वीकार नहीं किया जाता है। इतना ही नहीं … Read more

सवाई भोज मन्दिर आसीन्द मेला इतिहास जन्म स्थान बगड़ावत गोठा मालासेरी

सवाई-भोज-मन्दिर

सवाई भोज चौहान अथवा रावतभोज या राजाभोज, जो बगड़ावत चौहान गुर्जर राजवंश के सबसे प्रतापी वीर राजा थे। यह विष्णु के अवतार भगवान देवनारायण जी के पिताजी ही थे। सवाई भोज मन्दिर आसीन्द से दो किलोमीटर पूर्व में है। सवाई भोज मन्दिर कहा पर है यह वह स्थल हैं। जहां बगडावत भारत नामक युद्ध हुआ था। आशा बगडावत … Read more

वीर तेजाजी मंदिर हरसौर नागौर निर्माण रास्ता डिजाइन कथा फोटो

वीर-तेजा-जी-मंदिर-हरसौर

राजस्थान के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है वीर तेजा जी महाराज का भव्य मंदिर हरसौर में हैं। भव्य मंदिर के साथ साथ पर्यटन स्थल भी है। एक दम प्रगति की गोद में शांत व एकांत में बना हुआ तेजाजी मंदिर हरसौर महाराज का अद्भुत मंदिर जिसमे शाम के समय तो मंदिर की बनावट व … Read more

बुटाटी धाम मन्दिर कहा पर रास्ता चमत्कार लकवा इलाज

बुटाटी-धाम-image

“बुटाटी धाम” यह स्थान राजस्थान के जिला नागौर में बीकानेर-अजमेर राष्टीय राजमार्ग 89 पर कुचेरा क़स्बे के पास ग्राम बुटाटी स्थित है। इस मन्दिर को ‘चतुरदास जी महाराज का मंदिर’  के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर में वस्तुतः चतुरदास जी की समाधि है। बुटाटी धाम मन्दिर कहा पर हैं यह स्थान बुटाटी … Read more